मंत्री ने लिखी चिट्ठी
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने प्रदेश के सभी व्यापारियों को पत्र लिखा है. इसमें उनसे कोरोना गाइड लाइन का पालन करने की अपील की गयी है. उन्होंने व्यापारियों से कहा है कि होटलों में सिर्फ 50% क्षमता में बैठक व्यवस्था करें. दुकानों व्यापारियों को मिलेगा इनाम में अनावश्यक भीड़ न हो इसके लिए कूपन व्यवस्था लागू करें. बिना मास्क के दुकानों में एंट्री रोकें. भोजन, नाश्ता, दूध, मिठाई की होम डिलीवरी की व्यवस्था करें. सभी व्यापारी संघ जिम्मेदारी से अपनी भूमिका निभाएं. उन्होंने कहा कोविड अनुकूल व्यवहार करने वाले व्यापारियों को इनाम दिया जाएगा. इनाम की व्यवस्था के लिए सरकार प्लान तैयार कर रही है. पूरी मॉनिटरिंग के बाद व्यापारी की पहचान कर व्यापारियों को मिलेगा इनाम उसे इनाम दिया जाएगा.

मंत्री समूह की बैठक में फैसला
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ने कहा मंत्री समूह की बैठक में निर्णय लिया गया है कि नगरीय निकाय की व्यापारी संस्थाओं, प्रमुख व्यवसायिक प्रतिष्ठानों और दुकानदारों को कोविड गाइड लाइन फॉलो करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए. व्यापारियों को पुरस्कृत करने के लिए कई शर्ते भी रखी गई हैं. दुकान में एंट्री और दुकान में सामान लेने में सोशल डिस्टेंस का पालन किया जाए. खानपान के सामान की जहां तक संभव हो होम डिलेवरी की जाए. घने बाजारों में सीमित संख्या में प्रवेश दिया जाए. सभी व्यापारियों का सौ फीसदी वैक्सीनेशन हो. अच्छा काम करने पर इनाम मिलेगा और अगर गाइडलाइन का पालन नहीं किया गया तो चालान काट दिया जाएगा. भूपेंद्र सिंह ने कहा-यह सब कोरोना की तीसरी लहर से बचने के लिए किया जा रहा है.

Gorakhpur: फरार दवा व्यापारियों पर दोगुना हुआ इनाम, एक महीने बाद भी पुलिस की पकड़ से दूर हैं दोनो भाई

नशीली दवा बेचने के आरोप में बीते सात अगस्त को दोनों व्यापारी भाइयों के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था। पिछले एक महीने में भी आरोपित आशीष व अमित की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। ऐसे में दोनों की गिरफ्तारी को लेकर गंभीर पुलिस विभाग ने इनाम की राशि बढ़ाई है।

गोरखपुर, जागरण संवाददाता। नशीली दवा बेचने के आरोपित भालोटिया मार्केट के सगे भाइयों की माह भर बाद भी गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। पुलिस उप महानिरीक्षक जे. रविन्दर गौड ने दोनों आरोपितों पर पहले से घोषित इनाम की राशि बढ़ाकर 50-50 हजार रुपये कर दी है। पुलिस का मानना है कि इनाम की राशि बढ़ाने से दोनों आरोपितों की गिरफ्तारी राह आसान हो जाएगी।

यह है मामला

सात अगस्त को पहले संतकबीरनगर के खलीलाबाद और उसके कुछ घंटे बाद गोरखपुर के गीडा में खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम ने दो करोड़ रुपये से ज्यादा मूल्य की नशीली दवाएं बरामद की थीं। इस मामले में भालोटिया मार्केट के दवा व्यापारी आशीष मेडिकल एजेंसी के आशीष गुप्ता और आशीष ट्रेडर्स के अमित गुप्ता उर्फ रिंकू समेत आठ लोगों के विरुद्ध मादक द्रव्य निषेध अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज है। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही दोनों भाई फरार हैं। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने भालोटिया मार्केट स्थित दाेनों की दुकान व गोदाम को सील कर दिया है।

सरकार का कोरोना मुक्त ऑफर : व्यापारियों को मिलेगा इनाम, मनमानी व्यापारियों को मिलेगा इनाम करने पर कटेगा चालान

सरकार ने कोरोना कंट्रोल करने के लिए व्यापारियों को पत्र लिखा है.

सरकार ने कोरोना कंट्रोल करने के लिए व्यापारियों को पत्र लिखा है.

भोपाल. सरकार अब व्यापारियों के ज़रिए मध्य प्रदेश को कोरोना मुक्त (Corona free) करने की तैयारी में हैं. सबसे ज़्यादा भीड़ दुकानों और बाजारों में ही होती है. इन जगहों पर व्यापारी ही कोरोना को कंट्रोल कर सकते हैं. सरकार सरकार व्यापारियों को तोहफा देने वाली है. हालांकि कुछ शर्ते हैं जिन्हें व्यापारियों को मानना होगा.

मध्य प्रदेश को सरकार कोरोना फ्री बनाने के लिए हरसंभव कदम उठा रही है. इसकी शुरुआत उसने व्यापारियों कोरोना फ्री ऑफर देकर कर दी है. इसमें सरकार प्रदेश के व्यापारियों को इनाम देगी जो कोरोना गाइडलाइन के तहत व्यवहार करने पर दिया जाएगा. इसके लिए सरकार ने कुछ महत्वपूर्ण शर्तें भी रखी हैं जिनका पालन व्यापारियों को करना होगा.

आपके शहर से (भोपाल)

Police Commissioner System के 1 साल पूरे, गृहमंत्री Narottam Mishra का ने किया ये दावा । MP News

Criminals | बेटे ने कुल्हाड़ी से हमला कर पिता को उतारा मौत के घाट | Mandla Latest News । Crime News

Assam News : जंगली हाथियों को छेड़ना पड़ सकता था भारी, व्यापारियों को मिलेगा इनाम व्यापारियों को मिलेगा इनाम Police ने शरारती युवक को किया गिरफ्तार

किसानों को मिलेंगे एक-एक लाख रुपये के इनाम, इस तारीख से पहले करना होगा आवेदन

organic farming

aajtak.in

  • नई दिल्ली,
  • 29 नवंबर 2022,
  • (अपडेटेड 29 नवंबर 2022, 5:11 PM IST)

जैविक खेती को लेकर किसानों को लगातार प्रोत्साहित किया जा रहा व्यापारियों को मिलेगा इनाम है. बड़े स्तर पर किसान खेती के इस तरीके से जुड़े इसके लिए सब्सिडी भी दी जाती है. इसी कड़ी में राजस्थान सरकार जैविक खेती करने वाले तीन सर्वश्रेष्ठ किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए अवार्ड देने जा रही है.

पांच वर्षों से जैविक खेती कर रहा हो किसान

राजस्थान उप निदेशक कृषि (विस्तार) डॉ. गुगन राम मटोरिया मुताबिक पांच वर्षाे से कृषि उद्यानिकी फसलों में जैविक उत्पादन का कार्य कर रहा हो तथा कम से कम पिछले दो वर्षाे से लगातार जैविक उत्पादों का प्रमाणिकरण करवा रहा हो, उन्हें इस पुरस्कार के लिए वरीयता दी जाएगी.

सम्बंधित ख़बरें

PM Kisan Yojana: ई-केवाईसी के लिए सीएसी सेंटर पर खर्च करने होंगे इतने रुपये
ना बारिश. ना बाढ़. फिर भी पानी में डूब गई किसानों की 300 बीघा की फसल, जानें वजह
कम समय की खेती में बंपर पैदावार, सिर्फ 60 से 70 दिनों में लाखों का मुनाफा!
इस तकनीक से विदेशी सब्जियां उगा लाखों का मुनाफा कमा रहा ये शख्स
इस राज्य के किसानों पर आई बड़ी आफत, सैकड़ों एकड़ पपीते के व्यापारियों को मिलेगा इनाम बाग हुए तबाह

सम्बंधित ख़बरें

तीन किसानों का होगा चयन

इस अवॉर्ड के लिए किसानों उत्कृष्ट तरीके से जैविक खेती करने वाले तीन किसानों का चयन किया जाएगा. उन्हें एक-एक लाख रुपये की राशि दी जाएगी. जिला कलेक्टर की अध्यक्षता में गठित कमेटी जिला स्तर पर मिलने वाले आवेदनों पर विचार करके एक किसान का चयन करेगी. इस पुरस्कार के लिए जैविक खेती करने वाले किसान 10 दिसंबर तक आवेदन कर सकते हैं.

कौन से किसान इस योजना के लिए माने जाएंगे पात्र

डॉ. गुगन राम मटोरिया के मुताबिक जिन किसानों ने जैविक खेती के लिए स्वयं के खेत मे वर्मी कम्पोस्ट इकाई/कम्पोस्ट पिट बना रखा हो, जैव कीटनाशक, जैव उर्वरक आदान स्वयं के तैयार कर उचित फसल चक्र अपनाकर हरी खाद का उपयोग करता हो तथा जैविक खेती संबंधी कोई नवाचार कर जैविक उत्पादन लेता हो साथ ही जो कि राजकीय/निजी प्रमाणीकरण संस्था से प्रमाणित हो वही किसान इस अवॉर्ड के लिए पात्रा माना जाएगा.

बिल लाओ, इनाम पाओ: आसानी से उठा सकते हैं ग्राहक इस योजना का फायदा, बस व्यापारियों को मिलेगा इनाम जान लें अगर ये बातें

प्रतीकात्मक तस्वीर

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) बिल को बढ़ावा देने के लिए सरकार बिल लाओ, इनाम पाओ योजना शुरू करेगी। इस योजना में ग्राहकों को सामान खरीद बिल पर आकर्षक इनाम पाने का मौका मिलेगा। सामान का बिल भेजने के लिए मोबाइल एप भी तैयार किया जाएगा, जिस पर प्राप्त होने वाले बिलों की लॉटरी निकाली जाएगी। इसमें विजेताओं को स्मार्टफोन, स्मार्ट वॉच, स्कूटर व कार समेत कई आकर्षक इनाम दिए जाएंगे।

आमतौर पर ग्राहक सामान की खरीद करते समय बिल नहीं लेते हैं। पक्का बिल न लेने से व्यापारियों को इसका फायदा पहुंचता है, जबकि सरकार को राजस्व नुकसान उठाना पड़ रहा है। अब सरकार सामान खरीद बिल के लिए ग्राहकों को प्रोत्साहित करने के लिए बिल लाओ और ईनाम पाओ योजना शुरू कर रही है। कैबिनेट ने इसकी मंजूरी भी दे दी है।

विस्तार

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) बिल को बढ़ावा देने के लिए सरकार बिल लाओ, इनाम पाओ योजना शुरू करेगी। इस योजना में ग्राहकों को सामान खरीद बिल पर आकर्षक इनाम पाने का मौका मिलेगा। सामान का बिल भेजने के लिए मोबाइल एप भी तैयार किया जाएगा, जिस पर प्राप्त होने वाले बिलों की लॉटरी निकाली जाएगी। इसमें विजेताओं को स्मार्टफोन, स्मार्ट वॉच, स्कूटर व कार समेत कई आकर्षक इनाम दिए जाएंगे।

आमतौर पर ग्राहक सामान की खरीद करते समय बिल नहीं लेते हैं। पक्का बिल न लेने से व्यापारियों को इसका फायदा पहुंचता है, जबकि सरकार को राजस्व नुकसान उठाना पड़ रहा है। अब सरकार सामान खरीद बिल के लिए ग्राहकों को प्रोत्साहित करने के लिए बिल लाओ और ईनाम पाओ योजना शुरू कर रही है। कैबिनेट ने इसकी मंजूरी भी दे दी है।

प्राप्त बिलों की निकाली जाएगी लॉटरी
वित्त विभाग की ओर से योजना के लिए एक मोबाइल एप तैयार किया जाएगा, जिसमें ग्राहकों को सामान खरीद का बिल भेज कर आकर्षक इनाम पाने का मौका मिलेगा। यही नहीं, प्राप्त बिलों की लॉटरी निकाली जाएगी और विजेेताओं का चयन किया जाएगा। योजना में फिलहाल रेस्टोरेंट, मिठाई, ड्राई फ्रूट्स, अनब्रांडेड कपड़े, स्पा, ब्यूटी पॉर्लर समेत अन्य क्षेत्रों को शामिल किया गया। इन क्षेत्रों में आम तौर पर ग्राहक बिल नहीं लेते हैं। इससे व्यापारी जीएसटी व्यापारियों को मिलेगा इनाम टैक्स जमा करने से बच जाते हैं।

सुराग देने पर मिलेगा इनाम

सुराग देने पर मिलेगा इनाम

Meerut। सर्राफा व्यापारियों के साथ हो रही लूट और ठगी की घटनाओं को लेकर मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों में आक्रोश है। बुधवार को एसोसिएशन की मीटिंग शहर सर्राफा बाजार में महादेव मंदिर में हुई। जिसमें सभी सर्राफा व्यापारियों ने कहा कि आए दिन लूट और डकैती की घटनाएं हो रही हैं। पुलिसकर्मी बताकर भी बदमाश वारदात को अंजाम दे रहे है और पुलिस उन्हें पकड़ नहीं पा रही है। उन्होंने ऐलान किया कि 11 से 14 जनवरी तक सभी अधिकारियों के ऑफिस का घेराव किया जाएगा।

अधिकारियों के आवास का घेराव

बैठक में सर्राफा व्यापारियों के साथ एक ही गैंग द्वारा लगातार पुलिस के नाम पर ठगी एवं लूट की घटनाओं पर रोष प्रकट किया गया। इसके साथ ही शास्त्रीनगर में रतीराम अनिल कुमार सर्राफ के पूरे शोरूम को डकैतों द्वारा गन प्वाइंट पर लूटने की घटना पर चिंता भी व्यक्त की गई। सभी घटनाओं के शीघ्र खुलासे के लिए मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसोसिएशन के नेतृत्व में सर्राफा व्यापारियों ने 11 जनवरी को एसपी सिटी, 12 जनवरी को एसएसपी, 13 जनवरी को आईजी और 14 जनवरी को एडीजी का घेराव करने का ऐलान किया है। यह घेराव चारों दिन ग्यारह बजे से बारह बजे के बीच होगा। इसके साथ ही मीटिंग में लूट और ठगी के आरोपियों को पकड़वाने पर 51 हजार और सुराग देने वाले को 21 हजार का इनाम दिया जाएगा। व्यापारियों ने व्यापारियों को मिलेगा इनाम पहले सीसीटीवी में कैद हुई घटना करने के आरोपी के फोटो वायरल करते हुए ईनाम घोषित किया है।

रेटिंग: 4.26
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 853